मेरे शब्द,मेरी शक्ति!!!

सोंच बदलो, देश बदलेगा!!

17 Posts

9177 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 3763 postid : 34

क्या इतनी निम्न प्रकृति की हो सकती है राहुल गाँधी की सोच???

  • SocialTwist Tell-a-Friend

rahul-gandhiwikileaks-31

इसे राहुल गांधी कि निम्न सोंच कहूँ, ग़ैरज़िम्मेदाराना हरकत कहूँ या इसे उनकी नादानी कहूँ? जिस इंसान मे हम भविष्य का प्रधानमंत्री देख रहे हैं, क्या वह ऐसा निंदनीय कार्य कर सकता है?
अपने रहस्योद्घाटनों से दुनिया भर मे तहलका मचाने वाली वेबसाइट विकिलिक्स का यह नया खुलासा अत्यंत महत्वपूर्ण है| राहुल गांधी का यह बयान निंदनीय है और देश के हिंदुओं के मुँह पर करारे तमाचे से कम नही है| जिसमे उन्होने कहा है कि भारत को विदेशी आतंकी संगठनो से ज्यादा खतरा देश के हिंदुओं से है| इन्हे वे भगवा आतंकवाद का नाम दे रहे हैं|
विकिलिक्स के खुलासे के अनुसार 2009 मे विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के सम्मान मे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के आवास मे भोजन के दौरान राहुल गांधी और टिमोथी रोएमर कि बातचीत हुई थी, इसमे राहुल ने लश्कर--तैयबा से ज्यादा चरमपंथी हिन्दू संगठनों से भारत को खतरा बताया था|
क्या राहुल गांधी इतने नादान हैं कि देश के दुश्मनों कि भी पहचान नही कर सकते?
एक बात तो सच है कि इस सब का सबसे बड़ा नुकसान अगर किसी को होगा तो वह होगा कांग्रेस का|
और इसका फायदा सीधा भाजपा कि ओर जाएगा| इससे भाजपा कॉंग्रेस को नीच दिखाने मे कोई कसर नही छोड़ेगी और भाजपा का हिन्दू वोट बॅंक और अधिक मजबूत होगा|
राहुल के इस राग से भाजपा को तो नया मुद्दा मिला है और कांग्रेस कि छवि धूमिल हुई है|

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (5 votes, average: 4.20 out of 5)
Loading ... Loading ...

16 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

upendra के द्वारा
January 6, 2011

जिस आदमी के पास ये क्षमता नहीं है किवह एक राज्य का मुक्यमंत्री बन सके उसमे लोग प्रधानमंत्री कैसे देख लेते है / आज अगर नेहरु जी ने अपने परिवार के बारे में न सोच कर अगर देश के बारे में सोचा होता तो आज हिंदुस्तान कही बेहतर स्तिथि में रहता// क्या केवल इसी परिवार के सदस्य प्रधानमंत्री बनते रहेंगे

    Deepak Sahu के द्वारा
    January 9, 2011

    उपेन्द्र जी सच कहतें है आप! हमने ही गलत आदमी से इतनी बड़ी उम्मीदें रख ली थीं! आपकी प्रतिक्रिया के लिए बहुत बहुत धन्यवाद ! दीपक

    Jonalyn के द्वारा
    July 12, 2016

    I have an idea. How about we ponder the radical notion that there just might be enough to go arotdn?Haured might be the dullest knife in the drawer, but isn’t it just amazing how people just can’t seem to be able to get rid of it?

alokkumartiwari के द्वारा
December 20, 2010

दीपक जी राहुल गाँधी की यह सोंच अत्यंत निंदनीय है| किसी राजनेता के द्वारा ऐसी बातें शोभा नहीं देतीं अलोक तिवारी

    deepakkumarsahu के द्वारा
    December 20, 2010

    बन्धु अलोक जी आपकी प्रतिक्रिया के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

    Letitia के द्वारा
    July 12, 2016

    Meeeen! Jag var ocksÃ¥ där pÃ¥ lördagen, men smög mest runt som en lÃ¥ng vandrande pinne. :) SÃ¥g inte till nÃ¥got vilt härjande, sÃ¥ vi mÃ¥ste ha gÃ¥tt om varandra timÃgs¤ssidt! Fyndade du nÃ¥got smaskigt eller knöt nÃ¥n kontakt kanske?

Piyush Pant, Haldwani के द्वारा
December 19, 2010

हिन्दुत्व पर प्रश्न चिन्ह लगाने वाले राहुल अकेले नहीं हैं……….. ये कांग्रेस पार्टी का एक अभियान बन गया है….. हर नेता किसी न किसी तरह इसको फैला रहा हैं………………………

    deepakkumarsahu के द्वारा
    December 20, 2010

    बन्धु जी सच है की जब पूरी कांग्रेस पार्टी ही ऐसी है तो अकेले राहुल ही नहीं हैं| सभी एक जैसे हैं| ये पूरी पार्टी हिंदुत्व को बदनाम करना चाहती है आपकी प्रतिक्रिया के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

    Rochi के द्वारा
    July 12, 2016

    戄ƒ¨½éŽä¸€å€‹å¾ˆå¦™çš„說法,用演化來解釋「人為什麼會想要追求意義」這回事。或許你已經聽過了,那就幫我看看有沒有講錯吧。簡單地說,追求意義的人在演化上具有優勢。遠古的人類看到地上獸類的腳印,附近折斷的樹枝、天空烏雲密佈、野獸打鬥的痕跡,會去思考:「這背後到底有什麼意義?」然後運用同樣也是演化來的理性來進行推理。這對個體的生存和繁衍後代是有好處的,於是追求意義的人就獲得了一點演化的優勢。這種慾望本身是ä¿è進思考的一點推進力,沒有這種慾望的人,就算擁有同樣好的理性能力,圁看到上述的種種現象時只會說「å–”」然後轉頭去忙其他事情。久而久之就成了被淘汰的一群。麻煩的是,這種追求意義皑慾望並不會挑對象,因此人們會開始問「天上的星星排列有什麼意義?」「我女兒出嫁的日子下大雨,這代表什麼意義?」「我們的人生到底有什麼意義?」這種問題,然後就出現了各種手拿拂塵、魔杖、水晶球、十字架的傢伙來幫人們解決問題。此乃後話。 :)

Rahul Goyal के द्वारा
December 19, 2010

राहुल गाँधी एक इसाई है, हमारे पुरबी राज्यों में इसाई आतंकवाद है, जो वहा को इसाई राज्य बनाना में लगे हुए हे, इसलिये राहुल को हिन्दू आतंकवाद दिखाए देता है, न की इसाई या इस्लामिक आतंकवाद http://dilkebaat.jagranjunction.com/

    deepakkumarsahu के द्वारा
    December 19, 2010

    राहुल जी लगता है उन्हे मुस्लिम आतंकवाद नही दिख रहा है या अनदेखा कर रहे हैं उन्हे हमारे देश के हिंदुओं मे आतंकवाद दिख रहा है खैर आपकी प्रतिक्रिया के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

nishamittal के द्वारा
December 18, 2010

राहुल की सोच निम्न कोटि की नहीं नीचता की पराकाष्टा है उनको मुस्लिम आतंकवाद जिससे आज विश्व त्राहि त्राहि कर रहा है दिखाई नहीं देता ,ऐसे अपरिपक्व व्यक्ति को देश का प्रधानमंत्री प्रोजेक्ट करना …………………

    deepakkumarsahu के द्वारा
    December 19, 2010

    आदरणीय निशा जी लगता है राहुल की दृष्टि क्षीण हो गयी है जो उन्हे मुस्लिम आतंकवाद नही दिख रहा है या अनदेखा कर रहे हैं उन्हे हमारे देश के हिंदुओं मे आतंकवाद दिख रहा है| ऐसे इंसान से हम भविष्य का प्रधानमंत्री बनाने की आश कैसे कर सकते हैं? खैर आपकी प्रतिक्रिया के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

    Nelia के द्वारा
    July 12, 2016

    Thanks for spending time on the computer (wirting) so others don’t have to.

NIKHIL PANDEY के द्वारा
December 18, 2010

दीपक जी राहुल जी के इस गैरजिम्मेदाराना बयान से कांग्रेस और भाजपा के लाभ हानि की बात तो किनारे है…. सबसे बढ़कर अंतर्राष्ट्रीय मंचो पर भारत के खिलाफ नकारात्मक सन्देश गया है …. और इस्लामिक आतंकवाद से जूझ रहे विश्व के सामने भारत की एक ऐसी बुरी छवि उभरेगी जिसका कोई अस्तित्व ही नहीं है …सरकारी एजेंसिया तक हिन्दू आतंकवाद जैसी किसी चीज के न होने की बात कह रहे है…. एक तरफ तो ये दूसरी तरफ हमारे देश में ही हिन्दू मुस्लिमो के बीच एक गहरी खाई बन जाएगी… और ये तय है की ये खाई कांग्रेस ही खोद रही है

    deepakkumarsahu के द्वारा
    December 19, 2010

    निखिल जी सच है की राहुल के इस बयान से को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्षति होगी| और राहुल का यह बयां तो पूर्णतया मिथ्या है| पता नहीं वे आखिर चाहतें क्या हैं? आपकी कमेन्ट के लिए बहुत बहुत धन्यवाद


topic of the week



अन्य ब्लॉग

  • No Posts Found

latest from jagran